04 July 2008

mahilaon ki jemmedari khatm



साधो
एक समय कहा जाता था की महिलाये अब पुरुषों से कंधे से कन्धा मिलकर चलने लगी है सो अब कहा जाएगा की स्त्रियों से पुरूष भी पीछे नही रहे। क्योंकि अब मेल फिमेल बन गया है। यह कारनामा किया है एम् अमरीकी युवक ने जो एक स्त्री की तरह नव महीने तक गर्भ धारण किए रहा । और आज एक बछि को जना है । मेरी तरफ़ से उसे तहे दिल से शुक्रिया । इस नेक कम के लिए इनाम भी मिलना चाहिए क्योंकि इसने हमारे देश की लगातार घट रही आधी आबादी को पोर करने में मदद करेगा। ओ इस तरह की अब अमेरिकिओं को महिलों और लड़किओं की जरुरत कम पड़ेगी इसलिए ...........kramsh

भाग 1

2 comments:

महेंद्र मिश्रा said...

aaj samachaar padha hai rochak laga .parantu sawal yah uthata hai ki in mahoday ko kya kahe maheila ya purush . dhanyawaad.

Tara Chandra Gupta "MEDIA GURU" said...

ji bilkul yeh aap ne gambhir sawal kiya . yeh thik usi prakar hai jaise prtibha patil ke president banne ke bad yah sawal uth rahe the ki inhe RASTRAPATI kaha jaye ya RASTRAPATNI .