26 October 2009

अब तो इंतजार बंद करो

आपका इंतजार करते,
घंटे बीत गये,
ये घंटे ऐसे लगते जैसे सदिया बीत गई।

आपका इंतजार करते,
ऑखे थक गई,
ये आखे ऐसी लगती जैसे रात भर सोई नही ।

आपका इंतजार करते,
दिल भी हार गया
दिल भी कहता है अब तो इंतजार बंद करो।

4 comments:

राज भाटिय़ा said...

लो भाई नही करते इंतजार. राम राम

Udan Tashtari said...

किसका इन्तजार चल रहा है?

दर्पण साह "दर्शन" said...

आपका इंतजार करते,
ऑखे थक गई,
ये आखे ऐसी लगती जैसे रात भर सोई नही ।

....

kavita kehne ka prayas accha hai !!

Tara Chandra Gupta "MEDIA GURU" said...

aajkal yad kuchh aur rahata nahi ek bas aapki yad aane ke bad............sahi kah rahe hain na bhai sahab.....