01 May 2008

एक दीप शहीदों के नाम दो मिनिट मौन (प्रथम स्वातंत्र्य समर १८५७)

आदरणीय बन्धु /साथियो/हिन्दी ब्लॉगर भाई-बहिनों - एक अपील आमंत्रण

भारतीय जीवनी शक्ति और सामर्थ्य की अक्षय परम्परा से हम और सभी परिचित ही है . जब जब सारा देश संकटग्रस्त हुआ अपमानित हुआ तब-तब उन संकटों के प्रतिकार और अपनी गौरव रक्षा के लिए भारतीय जनमानस जाग्रत होकर कटीवध्द हुआ है. १८५७ का स्वतंत्रता संग्राम इसका महत्वपूर्ण उदाहरण है. भारतीय सैनिको और समस्त भारतीय जनता ने उस संग्राम मे जो सहस दिखाया ,जो बलिदान किए वे स्मरणीय है. कितने स्त्री पुरुषो आबाल वृद्धो ने अपनी आहुति दी इसका आंकलन कर पाना सम्भव नही है ..यह वर्ष उस महासंग्राम का 150 वां वर्ष है . 1857 के इस बलिदान -यज्ञ का हम उचित रूप से स्मरण करे और अपनी परम्परा के अनुसार यह हो सकता है .कि सारा देश और विदेशो मे रहने वाले भारतीय कि एक दिन उन बलिदानों की स्मृति और उनके प्रति श्रद्धा अर्पण मे दीप प्रज्जवलित करे और दो मिनिट का मौन बलिदानियो के ह्रदय की आग एवम् उनके संकल्प को चिरस्थायी बना सकेगा .

विनम्र अनुरोध है की 1857 के संघर्ष की स्मृति को संजोने इस राष्ट्रिय अभियान मे आप अपनी सक्रिय भागीदारी करे एवम् इस पवित्र यज्ञ मे अपने तन मन के सहयोग की समिधा अर्पण करने का कष्ट करे . यह कार्यक्रम जबलपुर शहर मे गली-गली- चौराहों मे अलग अलग समूहों मे विशाल स्तर पर आयोजित किया जावेगा . आप से अपील करता हूँ कि आप भी अपने शहरों मे शहीदों के प्रति श्रध्धांजलि अर्पित करे और उनकी स्मृति को चिरस्थायी बनाये रखने के लिए श्रद्धा अर्पण मे दीप प्रज्जवलित करे और इस यज्ञ मे सहभागी बने .

इस राष्ट्र यज्ञ मे आप निम्न आधार पर जुड़ सकते है -

नगर मे विभिन्न चौराहों सार्वजनिक स्थानों एवम् महापुरुषों के प्रतिमा स्थलों पर शहीदों की स्मृति मे कार्यक्रम होना अपेक्षित .
आप भी अपनी पार्टी /संस्थाओं की ओर से किसी सार्वजनिक स्थान का इस कार्यक्रम के लिए चयन कर सकते है .
इस कार्यक्रम मे जनसामान्य सहभागी हो ऐसी अपील समाचार के माध्यम से आप प्रसारित कर सकते है .
मुख्य कार्यक्रम का वातावरण बनने की द्रष्टि से 1857 की स्मृति मे पूरक कार्यक्रम आयोजित कर सकते है .
अपनी संस्था की ओर से प्रचार सामग्री मुद्रित कराके वितरित अथवा प्रदर्शित कर सकते है .

दिनक 10 मई 2008-1857 (सायं 6:50 बजे)

भवदीय
आचार्य कृष्ण कान्त चतुवेदी
एक दीप - दो मिनिट शहीदों के नाम
(प्रथम स्वातंत्र्य समर १८५७)
अभियान समिति,जबलपुर
दूरभाष ०७६१- २४१६९६३ फैक्स- ०७६१-4006608

1 comment:

mahashakti said...

हम प्रयास करेगे