27 September 2009

मिसफिट है ब्लागवाणी का फ़ैसला

ब्लागवाणी का फ़ैसला सही तो नहीं है...किंतु आपकी राय ज़रूरी है उत्तर हां या में हों तो सुखद होगा .

9 comments:

Varun Kumar Jaiswal said...

yes हाँ जी बिल्कुल मिसफिट है |

Udan Tashtari said...

मिसफिट हो तो भी अब क्षमा मांग निवेदन ही करना होगा, काश, मान जायें वृहद उपयोगिता के आधार पर.

गिरीश बिल्लोरे 'मुकुल' said...

sahmat hoon
विजयदशमी की शुभ कामनाएं ..

बी एस पाबला said...

हाँ

बी एस पाबला

Vivek Rastogi said...

हाँ, मेरी पोस्ट भी देखिये ।

http://kalptaru.blogspot.com/2009/09/blog-post_8783.html

दिनेशराय द्विवेदी Dineshrai Dwivedi said...

ब्लागवाणी का निर्णय मिसफिट/उचित है या नहीं है इस का निर्णय भी उस के कर्ता ही कर सकते हैं।
पसंद इतनी बड़ी चीज नहीं थी कि उस पर ब्लागवाणी कुर्बान हो जाए।

निशाचर said...

TRP की भेंट चढ़ गया ब्लागवाणी. परन्तु उन्हें अपने फैसले पर पुनर्विचार करना चाहिए.

अविनाश वाचस्पति said...

देखिए न मिसफिट है
न मिसेजफिट है
ब्‍लॉगवाणी अब तक रही
सबसे ज्‍यादा हिट है।

Anil Pusadkar said...

हां,पूरी तरह मिसफ़िट है।