10 April 2008

चुटकुले : पढे मगर हँसकर

चुटकुले : पढे मगर हँसकर

राम अपने पापा से - थोड़ा टी.वी. चला दीजिए आज बहुत मख्खी भिनभिना रही है
पापा - मक्खी से टी.वी का क्या सम्बन्ध है
राम - आजकल टी, वी, मे मख्खी और काकरोज भगाने के विज्ञापन बहुत आते है उसे देखकर मख्खी भाग जावेगी .

.....................
पापा - बेटा बुद्धिमान वेवकूफो की बातो का जबाब नही देते है और हँसकर टाल देते है
बेटा - पापा इसीलिए मैंने आज परीक्षा मे बस पेपर पढ़ा और जबाब नही दिया और हँसकर चला आया .

....................
राम - कल रात चोरो ने मेरे घर पर धावा मारा और पापाजी के रहते सब कुछ उठाकर ले गए
श्याम - पर तुम्हारे पिता जी तो पिस्तौल रखते है वह कहाँ थी ?
राम - पर पिस्तौल को चोरो ने देखा नही था पापाजी ने जल्दी से उसे कही छुपाकर रख दिए था .
...................
एक मित्र दूसरे मित्र से - आजकल जिस कम्प्यूटर का आविष्कार हुआ है पता है उसकी खूबी क्या है ?
दूसरा मित्र - हाँ , तकरीवन इंसान जैसा होता है अपनी सारी गलती दूसरे के सिर थोप देता है .
......................
कप्तान अपने रंगरूट को पैराशूट के प्रयोग करने के उपयोग करने की जानकारी दे रहा था .
रंगरूट ने अपने कप्तान से प्रश्न किया सर जब पैराशूट न खुले तो क्या करना चाहिए ?
कप्तान ने जबाब दिया कि तुम तुरंत मेरे पास आ जाना मैं तुम्हे दूसरा पैराशूट दे दूंगा .
........................

2 comments:

mahashakti said...

वाह
हँसते हँसते मजा आ गया

अभिनव said...

हा हा हा हा हा हा
बहुत खूब