23 February 2008

एक और सच

आये दिन देश में मुस्लिमों की दशा को लेकर आराक्षण का खेल खेला जाता है और इस खेल में पिसला है बहुसंख्‍यक वर्ग का अधिकार। आज ये आकड़े अपने आप में बहुत कुछ बायन कर रहे है कि देश की वर्तमान स्थिति क्‍या है? मुस्लिमो की संख्‍या में बृद्धि का दो कारण है कि उनकी धर्मिक रूढिवादिता तथा दूसरी है घुसपैठ अगर इन दोनो विषयों से निपट लिया जाये तो निश्चित रूप से मुस्लिमों को देशा की मुख्‍य धारा से जुड़ने से कोई रोक नही सकता है।  इन आकड़ो पर गौर करें-  

 

1991 से 2001 के बीच बंगलादेश से सटे असम
सीमावर्ती: जिलों का जनसंख्या वृ
द्धि प्रतिशत

सीमावर्ती जिले

मुस्लिम

गैर मुस्लिम

कुल

धुबरी

29.5

7.1

22.9

ग्वालपाड़ा

31.7

14.4

23.0

हैलाकांडी

27.2

13.3

20.9

करीमगंज

29.4

14.5

21.9

कछार

24.6

16.0

18.9

अन्य जिले

बरपेटा

25.8

10.0

18.9

नगांव

32.1

11.3

22.2

मारीगांव

27.2

16.3

21.2

दरांग

28.9

9.6

15.8

 

असम की जनसंख्या में मुसलमानों का बढ़ता प्रतिशत

सीमावर्ती जिले

1991

2001

धुबरी

70.4

74.3

ग्वालपाड़ा

50.2

53.6

हैलाकांडी

54.8

57.6

करीमगंज

49.2

52.3

कछार

34.5

36.1

अन्य जिले

बरपेटा

56.1

59.4

नगांव

47.2

51.0

मारीगांव

46.0

47.6

दरांग

32.0

35.6

पश्‍िचम बंगाल के सीमावर्ती जिलों में बढ़ती मुस्लिम जनसंख्या (प्रतिशत में)

सीमावर्ती जिले

1991

2001

दक्षि24 परगना

29.9

33.2

उत्तर 24 परगना

24.2

24.2

नादिया

24.9

25.4

मुर्तिशाबाद

61.4

63.7

मालदा

47.5

49.7

कोलकाता

17.7

20.3

दक्षिण दिनाजपुर

36.8

38.4

उत्तर दिनाजपुर

36.8

38.4

जलपाईगुड़ी

10.0

10.8

कूच बिहार

23.4

24.2

कुल

23.6

25.2

 

यदि आज कोई सच में मुस्लिमों का हितचिन्‍तक है और उनकी दशा और दिशा की चिन्‍ता करता है तो इन आकड़ो पर गौर करे और उन्‍हे धार्मिक अंधविश्वास से दूर कर, उनके समुचित जीवन के निर्माण की वयवस्‍था की जा सकती है, और घुटपैठ पर पूर्ण प्रतिबंध लगना चाहिऐ क्‍योकि घुसपैठी न तो हिन्‍दू न मुस्लमान, घुटपैठियॉं घुटपैठियॉं होता है तभी अरब के देशों में भी घुटपैठिये मुस्लिमों के साथ अ‍त्‍यधिक कड़ा रूख रखा जाता है।

6 comments:

रवीन्द्र रंजन said...

मेरे खयाल से मुस्लिमों को आरक्षण मिलना चाहिये। यह एक ऐसा हथियार है जिसके जरिये मुस्लिम आगे आएंगे और तरक्की करेंगे तो उनकी सोच भी बदलेगी। दलितों का उदाहरण हमारे सामने है। जिन लोगों को आरक्षण मिला आज उनके बच्चे अच्छी जगहों पर आसीन हो रहे हैं। उनकी सोच बदल रही है। नजरिया बदल रहा है। इसलिये जरूरत है कि हम मुस्लिमों के प्रति भी अपना नजरिया बदलें। कमियां कहां नहीं होतीं, लेकिन उन कमियों को हथियार बनाकर किसी को पीछे रखने की साजिश नहीं होनी चाहिये। क्या हम चाहते हैं कि मुस्लिम पंचर ही बनाएं, ठेला ही लगायें। उनके बच्चे क्यों न अफसर बनें?

Tojagal said...

This comment has been removed because it linked to malicious content. Learn more.

Tara Chandra Gupta said...

ravindra ji mai aapki bat se sahmat nahi hu. kyonki aapke samne mhd. afjal guru kya kam udaharan hai. rahi bat aarkshn ki to uske liye kndra sarakar ne alag se muslimo k liye dhan aavantit kiya hai.

हिन्दु चेतना said...

लगता है महाशक्ति समूह फिर से अपने रंग में आ रहा है। हिन्दुस्तान के बारे में अगर हिन्दु नही सोचेगें तो पाकिस्तानी और अमेरिकन तो कभी भी नही सोचेगें। आपने आज अच्छा विषय रखा है।

बधाई

हिन्दुस्तान में बाग्लादेशी के द्वारा करवाया जा रहा घुसपैठ एक सोचि समझी साजिश के तहत किया जा रहा है। जिससे एक नया मुगलिस्तान बनाया जा सके।

देखे हिन्दु चेतना का लेख

बांग्लादेशी घुसपैठ : देशद्रोहि नेता हैं गुनाहगार
http://ckshindu.blogspot.com/2008/01/blog-post_13.html

और इस साजिश में China Party of India (CPI) काले अंग्रेज (Congress Party) का खुला सर्मथन मिला हुआ है

देखे
http://www.youtube.com/watch?v=jV6z59RMGas

http://www.youtube.com/watch?v=WbKBSLy3WRE&feature=related

इतना कुछ देखने के बाद समझदारों को कुछ कहने की जरुरत नही है।

कृप्या इसे जारी रखे।

Anonymous said...

[url=http://cialisnowdirect.com/#ixipq]buy cialis[/url] - cialis 20 mg , http://cialisnowdirect.com/#scycr cialis online

Anonymous said...

[url=http://directlenderloandirectly.com/#ooxlg]direct lender payday loans[/url] - payday loans online , http://directlenderloandirectly.com/#ernbb payday loans online