08 December 2007

तुम मुझे उस दिन प्यार करना.












जब तुम्हे मुझ पर यक़ीन हो जाये,
मेरी बातों में तुमको सच्चाई दिखने लग जाये,
मेरी ऑखों के आँसू पानी है,जब ये भ्रम टूट जाये,
जब तुमको लगे की,तुम बिल्कुल अकेली हो,
तुम मुझे उस दिन प्यार करना.

जब तुम्हारे पास जीने की कोई उम्मीद ना हो,
तुम्हारे ऑसू पोछने के लिये कोई तुम्हारे करीब ना हो,
जब तुमको लगे की अब अकेले चलना नामुमकिन है,
ये जिन्दगी का रास्ता अब बहुत कठीन है,
तुम मुझे उस दिन प्यार करना.

जब तुमको तुम्हारा अकेलापन सताने लगे,
किसी की याद तुमको रुलाने लगे,
जब तुम्हारे ऑखों मे ऑसु सूख जाये,
और ऑखे रोने के लिये व्याकुल हो जाये,
तुम मुझे उस दिन प्यार करना.

जब कोई तुम्हारा हृदय तोड़ दे,
बीच राह मे तुम्हे छोड़ दे,
तुम्हारी सॉसे उखड़ने लगे,
और तुम्हे मेरी याद आने लगे,
तुम मुझे उस दिन प्यार करना.

मेरा प्यार इस जमाने के प्यार जैसा निश्चल नही है,
क्योंकी मेरा प्यार खुद मेरे लिये नहीं है,
इस प्यार के दिये को तेरी खातिर जलाया है,
जब इस दिये को लौ टिमटिमाने लग जाये,
तुम मुझे उस दिन प्यार करना.

3 comments:

mahashakti said...

आपकी यह पक्तिंयॉं सच्चे प्रेम को समर्पित करती है। आपने प्रेम को सही मायने में प्रदर्शित किया है। बधाई।

Mrs. Asha Joglekar said...

सुंदर !

इसको पढ कर एक पुराना गीत याद आगया।
कोई जब तुम्हारा ह्रदय तोड दे
तडपता हुआ यूँ तुम्हें छोड दे
तब तुम मेरे पास आना प्रिये
मेरा दर खुला है खुला ही रहेगा तुम्हारे लिये
तुम्हारे लिये

vj said...

nice and simple definition of true love that everyone should have. keep it up dude.......