30 December 2008

श्री राम ठाकुर दादा नहीं रहे

जबलपुर 29 दिसम्बर 2008

जबलपुर के श्रीराम ठाकुर "दादा",व्यंग्यकार लघु कथाकार श्री राम ठाकुर दादा का अल्प बीमारी के उपरांत दु:खद निधन हो गया अपनी सत्यवादिता एवं विनोद के पर्याय एवं मित्रता के निर्वहन के लिए मशहूर दादा को कई राष्ट्रीय सम्मान प्राप्त हुए उनके बारे में विस्तार से जानकारी के लिए यहाँ ,या यहाँ क्लिक कीजिए स्वर्गीय दादा की अन्तिम यात्रा में परिजनों के अलावा ज्ञान रंजन सहित संस्कार धानी जबलपुर के साहित्यकार,पत्रकार,विचारक, शामिल थे।

जन्म : 28 जनवरी 1946 बारंगी ,जिला : होशंगाबाद
अवसान
: 28 दिसम्बर 2008 जिला:जबलपुर

अनवरत स्मृतियों को नम आंखों में संजोए भाव पूर्ण श्रद्धांजलियां
शोकाकुल
जबलपुर के समस्त साहित्यकार

2 comments:

Udan Tashtari said...

श्रृद्धांजलि.

mahashakti said...

दादा को पढ़ा काफी उन्‍हे पढ़कर काफी अच्‍छा लगा किन्‍तु आज वो हमारे बीच नही रहे, उनकी कमी हमें नित खलती रहेगी। उनके साहित्‍य हमारे बीच होगे किन्‍तु दादा नही।

मेरी ओर से भी हार्दिक श्रंद्धा‍जंलि, ईश्‍वर उनके परिवार को बल तथा उनकी आत्‍मा को शान्ति प्रदान करें।

हरि ओम